डँड्रफ की समस्या से है परेशान – ये घर पर आज्माओगे तो कभी नहीं रहेगी डँड्रफ की समस्या

0
392
Dandruff
Dandruff solution

बाहरी सुंदरता के संदर्भ में बाल एक बहुत महत्वपूर्ण कारक है। घने काले बाल होने से सुंदरता बढ़ जाती है। स्वस्थ बाल हर किसी को पसंद  है, चाहे वह पुरुष हो या महिला। हर कोई अपने बालों की देखभाल कर रहा है और इसे साफ कर रहा है। बाजार में कई हेयर प्रोडक्ट उपलब्ध हैं। यह कितना लाभ पहुंचाता है, यह वास्तव में शोध का विषय है। इन उत्पादों का विज्ञापन इतना प्रभावी है कि इसे एक बार उपयोग करने का मन हरकिसिका  करता है ।

बालों की विभिन्न समस्याएं और इसके लिए कई प्रोडक्ट बाजार में दिखाई देते हैं। बालों की ऐसी ही एक समस्या डैंड्रफ है।

सबसे कम उम्र से लेकर सबसे बूढ़े तक किसी को भी हो सकता है। डैंड्रफ के कई कारण होते हैं। आइए देखें कि आयुर्वेद इस बारे में क्या सोचता है –

आयुर्वेद में, डँड्रफ को एक मामूली बीमारी कहा जाता है। इसे दारुनक के रूप में वर्णित किया गया है। आयुर्वेद के अनुसार, कोई भी बीमारी, यहां तक ​​कि सबसे महत्वहीन, लाइलाज बीमारी है। गंभीर मामलों में, बालो के उपरकी स्किन सुख जाती है। त्वचा पर खुजली हो जाती है, बलोमे खुजली और रूसी दिखाई देने लगती है। लक्षण बालों के झड़ने, धूसर, और लगातार खुजली शामिल हैं।

किसी भी बीमारी का कारण पता लगाना बहुत महत्वपूर्ण है। आयुर्वेद में पहला और सबसे महत्वपूर्ण उपचार बीमारी के कारण का उलटा है। बस बालों में रूसी होने के कारण, उस पर दवा लेना और कारण को जारी रखना बीमारी को दोहराता रहेगा।

डँड्रफ क्यों होता है..?

  • नमी और शुष्क वातावरण।
  • सर्दियों जैसे ठंड के मौसम में, त्वचा स्वाभाविक रूप से शुष्क हो जाती है और अगर देखभाल नहीं की जाती है, तो रूसी हो सकती है।
  • एसी के लगातार संपर्क में आने से पसीने और रूखी त्वचा को रोकता है।
  • हेयर स्प्रे हेयरड्रायर का लगातार उपयोग।
  • सोरायसिस की तरह जिल्द की सूजन।
  • रसायनों का लगातार और अत्यधिक उपयोग।
  • बार-बार जुकाम होना।
  • आहार में ओइल घी की कम मात्रा।
  • उचित पौष्टिक आहार नहीं लेना।

इस समस्या के पीछे कई कारण हैं।

बालों के विकारों को रोकने के लिए एक स्वस्थ दिनचर्या भी बहुत महत्वपूर्ण है। रोजाना स्कैल्प पर तेल लगाएं, बालों को नेचुरल प्लांट पाउडर से धोएं। नाक में तेल डालना, सिर से गर्म पानी नहीं लेना बालों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। बाल धोने के बाद सुखाएं। बालों को धूप से बचाना होगा।

खानेमे दू , घी, आंवला, तिल, नारियल, आदि। पदार्थों का उपयोग करे।

डँड्रफ के उपाय 

  • त्रिफला के अर्क से बाल धोने से रूसी कम हो जाती है।
  • नीम और मेथी को एक साथ बांटने से यह रूसी को कम करता है।
  • छाछ (औषधीय चूर्ण द्वारा सिद्ध) बहुत फायदेमंद है।
  • चमेली का पत्ता पेस्ट, बहती या साबित तेल त्वचा विकार हटाते है।
  • कुछ सिद्धतेल सुद्धा भी रूसी को कम करने में मदद करती हैं।
  • यदि सूखेपन के कारण रूसी होती है, तो सिद्ध तेल उपयोगी है।

For more such articles, amazing facts and Latest news


You may also like to read


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here