इतने रुपयो में हुई महात्मा गांधीजी के चश्मे की नीलामी, जानकर हेरान हो जाओगे…

2
657
mahatma gandhis iconic eyewear
mahatma gandhi's iconic eyewear
  • ये चश्मा 1900 में महात्मा गांधी पहेनते थे।
  • ब्रिटिश पेट्रोलियम में काम के दौरान 1910-30 में गांधीजी ने उनको भेट दिया था।      

लंदन: महात्मा गांधी के सोने के रंग के चश्मे इंग्लैंड में नीलाम किए गए। चश्मे की कीमत 2 करोड़ 55 लाख रुपये है। यह सोचा गया था कि ये चश्मा 14 लाख रुपये का होगा। बोली ऑनलाइन नीलामी में चली गई और अंत में 2 करोड़ 55 लाख रुपये पर बंद हो गई। नीलामी का आयोजन ईस्ट-ब्रिस्टल ऑक्शन कंपनी द्वारा किया गया था, जो दक्षिण-पश्चिम इंग्लैंड के उपनगर हनहम में स्थित है। चश्मा एक अमेरिकी कलेक्टर द्वारा खरीदा गया था।

नीलामी कंपनी के एक नीलामीकर्ता एंडी स्टोवे ने कहा: ‘अविश्वसनीय चीज को अविश्वसनीय कीमत मिली है। बोली लगाने वालों का शुक्रिया। न केवल हमने इस तमाशे की नीलामी का रिकॉर्ड बनाया, बल्कि इसका ऐतिहासिक महत्व भी अलग है। ‘

गांधीजी का चश्मा इंग्लैंड के एक पुराने सेल्समैन के पास था। महात्मा गांधी ने खुद विक्रेता के चाचा को चश्मा उपहार में दिया था। ब्रिटिश पेट्रोलियम में काम के दौरान 1910-30 में गांधीजी ने उनको भेट दिया था। ये चश्मा 1900 में महात्मा गांधीजी ने  पहना था। उन्होंने तब उपहार के रूप में चश्मा दिया। इन चश्मों की अनुमानित कीमत 9.79 लाख रुपये से 14.68 लाख रुपये के बीच है। कंपनी को नीलामी में 14 लाख रुपये से अधिक लाने की उम्मीद थी।

अगर आपको यह लेख पसंद आया है, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें। आपका एक शेयर किसी के जीवन के लिए बहुत लाभकारी हो सकता है, और इसका फल प्रकृति आपको जरुर देगी। यदि आपके पास कोई राय है, तो आप हमें कोमेंट्स में बता सकते हैं। तो हम उस जानकारी को अपने दूसरे लेख में जोड़ सकते हैं और इसे दूसरों को दे सकते हैं। फेसबुक पर हमारे पेज को फॉलो करें, फेसबुक पर न्यूज़, अजीबो गरीब बाते, करंट इवेंट, ब्यूटी टिप्स, फनी जोक्स, बॉलीवुड गॉसिप, राशि भविष्य, कुकिंग, टेक्नोलॉजी, आदि की जानकारी पा सकते है। जुड़े रहें, हम आपके लिए ऐसी ही रोचक और उपयोगी जानकारी लाते रहेंगे। धन्यवाद। जय हिन्द।

For more such articles, amazing facts and Latest news


You may also like to read


2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here