ये चमत्कारी काढ़ा पिने से आपकी इम्युनिटी बहुत ज्यादा बढ़ जायेगी

0
184
kadha
Kadha

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए अजवाइन ट्राई करे

हम सभी एक मजबूत इम्युनिटी प्रणाली के महत्व को जानते हैं। यह एक मजबूत दीवार की तरह है, जो हमारे शरीर को बीमारी पैदा करने वाले रोगजनकों से बचाता है, जिससे हम एक खुशहाल और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। इम्यून सिस्टम रोग, संक्रमण से बचाती है, और कम समय में चोट लगने के बाद ठीक होने में हमारी मदद करती है। यह स्वस्थ जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है और यही कारण है कि विशेषज्ञ हमेशा एक मजबूत इम्युनिटी होने के महत्व पर जोर देते हैं। इस समय एक मजबूत इम्यून सिस्टम होना और भी महत्वपूर्ण है, जब दुनिया कोरोनावायरस के रूप में घातक संक्रमण से निपट रही है और फ्लू का मौसम दरवाजे पर दस्तक दे रहा है।

काढ़ा बनाना आसान है

इम्युनिटी के निर्माण समय लेने वाली प्रक्रिया है, जो सकारात्मक जीवन शैली में बदलाव करके हासिल की जाती है। स्वच्छ भोजन करना, रोजाना व्यायाम करना, समय पर सोना कुछ ऐसी चीजें हैं जो आपके इम्युनिटी स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। हालाँकि, यदि आप अपने इम्युनिटी स्वास्थ्य को थोड़ा बढ़ावा देना चाहते हैं तो हमारे अजवाइन का काढ़ा को आज़माएँ।

अजवाइन और इम्युनिटी

अजवाइन हर भारतीय घर में पाए जाने वाले आम मसालों में से एक है।अजवाइन में एक कड़वा स्वाद और मजबूत सुगंध होती है जो भोजन में एक अलग स्वाद जोड़ती है। इसका उपयोग ज्यादातर अचार और चटनी में किया जाता है।

छोटे बीजों में शक्तिशाली औषधीय गुण होते हैं। यह एक उत्कृष्ट एंटी इन्फ्लेमेटरी एजेंट है जो पाचन और रेचक समस्याओं को सहायता करता है। एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी इम्युनिटी को बढ़ाने और सर्दी और खांसी के लक्षणों से राहत प्रदान करने में लाभकारी माना जाता है। अजवाइन में एंजाइम गैस्ट्रिक रस की रिहाई को बढ़ावा देते हैं जो पाचन कार्यों में सुधार करते हैं।

इस काढ़े को कैसे तैयार करें

सामग्री:
1/2 चम्मच अजवाईन
5 तुलसी के पत्ते
1/2 चम्मच काली मिर्च पाउडर
1 बड़ा चम्मच शहद

निर्देशन: एक गहरा पैन लें और उसमें 1 गिलास पानी, अजवाइन, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते डालें। पानी को 5 मिनट तक उबलने दें। गैस को बंद करें । इसमें शहद मिलाने से पहले मिश्रण को थोड़ी देर के लिए ठंडा होने दें। काढ़े को अच्छी तरह से मिलाएं और इसे पी लें।

सावधानी

अगर मॉडरेशन में इसका सेवन किया जाए तो अजवाईन स्वस्थ है। एक दिन में बहुत ज्यादा अजवायन सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है। तो, यह कड़ा दिन में केवल एक बार लें। कुछ लोगों को अपने आहार में अजवाईन शामिल करते समय ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए।

अगर आप स्तनपान करवा रही हैं या गर्भवती हैं तो इस काढ़े से बचें

यदि आप निकट भविष्य में कोई सर्जरी करवा रहे हैं तो ऑपरेशन से दो सप्ताह पहले इस काढ़े को पीना बंद कर दें।

अजवाईन में रक्त को पतला करने वाले गुण होते हैं। इसलिए, यदि आप रक्त को पतला करने वाली दवा ले रहे हैं या रक्त संबंधी किसी जटिलता से पीड़ित हैं, तो यह काढ़ा न पिए।

यकृत से संबंधित जटिलताओं से पीड़ित रोगियों को भी सतर्क रहना चाहिए।

For more such articles, amazing facts and Latest news


You may also like to read


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here